• Pritima Vats

मम्मी आपने राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन की चिट्ठी पढ़ी ?

Updated: Sep 19, 2018

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने अपने पुत्र के शिक्षक के नाम एक पत्र लिखा था। हर पापा के लिए, हर मम्मी के लिए और हर टीचर के लिए इस पत्र को पढ़ना बेहद जरूरी है। पत्र का एक संपादित अंश-




सम्माननीय सर…

मेरा बेटा आज पहली बार स्कूल जा रहा है। उसके लिए सब कुछ नया-नया होगा। कृपया उससे सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार करें। इस जीवन जीने के लिए उसे विश्वास, प्यार और साहस की आवश्यकता पड़ेगी।

मैं जानता हूं कि इस दुनिया में सारे लोग अच्छे और सच्चे नहीं हैं। यह बात मेरे बेटे को भी सीखनी होगी। सभी लोग सच्चे नहीं होते,किंतु उसे यह भी सिखाएं कि जहां एक बदमाश होता है, वहां एक नायक भी होता है। उसे यह भी बताएं कि जहाँ एक दुश्मन होता है, वहां एक दोस्त भी होता है। आप उसे सिखाइए कि मेहनत से कमाया गया एक डॉलर, सड़क पर मिलने वाले पांच डॉलर के नोट से ज्यादा कीमती होता है।

आप उसे किताबें पढ़ने के लिए तो कहिएगा ही, पर साथ ही उसे आकाश में उड़ते पक्षियों को, धूप में हरे-भरे मैदानों में खिले फूलों पर मंडराती तितलियों को निहारने का भी अवसर दें। मैं मानता हूँ कि स्कूल के दिनों में ही उसे यह बात भी सीखना होगी कि नकल करके पास होने से फेल होना अच्छा है। किसी बात पर चाहे दूसरे उसे गलत कहें, पर अपनी सच्ची बात पर कायम रहने का हुनर उसमें होना चाहिए। दयालु लोगों के साथ नम्रता से पेश आना और बुरे लोगों के साथ सख्ती से पेश आना चाहिए। दूसरों की सारी बातें सुनने के बाद उसमें से काम की चीजों का चुनाव उसे इन्हीं दिनों में सीखना होगा।

आप उसे बताना मत भूलिएगा कि उदासी को किस तरह प्रसन्नता में बदला जा सकता है। उसे यह भी बताइएगा कि जब कभी रोने का मन करे तो रोने में शर्म बिल्कुल ना करे। मेरा सोचना है कि उसे खुद पर विश्वास होना चाहिए और दूसरों पर भी। तभी तो वह एक अच्छा इनसान बन पायेगा।

ये बातें बड़ी हैं और लम्बी भी. पर आप इनमें से जितना भी उसे सिखा पाए उतना उसके लिए अच्छा होगा. फिर, अभी मेरा बेटा बहुत छोटा है और बहुत प्यारा भी।

– अब्राहम लिंकन

101 views0 comments

Recent Posts

See All

©2018 by Suno Mummy........