• Pritima Vats

जब आप बच्चों के साथ खेलें...

Updated: Sep 20, 2018

सफल मम्मी बनने के 10 सूत्रे


एक आदर्श मम्मी बनने के लिए अपने महत्वपूर्ण समय से थोड़ा सा समय निकालकर आप अपने बच्चों के साथ खेल भी सकती हैं और उन्हें सही राह भी दिखा सकती हैं। आपका यही प्रयास बाद में आपके बच्चे के भविष्य निर्माण में सहायक साबित होंगे।

* अपने बच्चों के साथ कुछ वक्त जरूर खेलें। ध्यान रखें खेल, उनकी पसंद का हो और खेल के नियमों के बारे में चिंता न करें। बस इतना ध्यान रखें कि आपका बच्चा बगैर किसी रुकावट के खुलकर खेले। सही मायने में यही खेल का नाम है।

* हर दिन कुछ वक्त के लिए बच्चे को साथ लेकर किताबें पढ़ें। जब वह नवजात शिशु हो तब से हीं शुरू करें; बच्चों को अपने माता-पिता की आवाज सुनना अच्छा लगता है। आपकी आवाज सुनते-सुनते वह किताब पढ़ने के प्रति भी आकर्षित होता है। यह एक ऐसी आदत है जो आपके बच्चो को किताब के प्रति लगाव पैदा करती है जो उसे जीवनभर पढ़ने के लिए तैयार करेगा।

* अपने रोजमर्रे की दिनचर्या में कुछ समय निर्धारित करें। जब आपके बच्चे अपनी मनमानी कर सकें। जहां आप बिना किसी रुकावट के कम से कम 10 या 15 मिनट के लिए उनकी मनमानी में उनका साथ दें। आपके प्यार को दिखाने के लिए इससे कोई बेहतर तरीका और नहीं है।

* हमारे बच्चों के जीवन में सुधार के लिए सबसे आसान और असरदार उदाहरण उनका पिता होता है। व्यस्त रहते हुए भी कुछ समय बच्चों को देनेवाले पिता के बच्चे स्कूल में अक्सर बेहतर करते हैं, समस्याओं को अधिक सफलतापूर्वक हल करते हैं, और आम तौर पर जीवन में आनेवाली कठिनाईयों का बेहतर सामना करते हैं।

* कुछ यादगार पल बनाने की कोशिश करें। आपके बच्चों को शायद कुछ भी याद नहीं होगा जो आप उन्हें कहते हैं या उनके लिए करते हैं। लेकिन वे परिवार में होनेवाले उत्सवों को याद करेंगे - जैसे कि कहीं बाहर घूमने जाना, सोने से पहले कुछ गेम खेलना। परिवार के बाकी सदस्यों के साथ मिलना-जुलना। छुट्टियों में कभी-कभी अपने पैत्रिक गाँव जाना।

* बच्चों की नजर में एक आदर्श मम्मी बनने की कोशिश करें। क्योंकि बच्चे अपने माता-पिता को देखकर सीखते हैं। बच्चे के जीवन में उनके माता-पिता एक रोल मॉडल की तरह होते हैं, जिसका बच्चे के जीवन में बताई या पढ़ाई गई बातों से ज्यादा प्रभाव पड़ता है।

* अगर कहीं कोई गलती हो जाए तो बेहिचक बच्चे के सामने ही माफी मांगनी चाहिए। यह आपके बच्चे को दिखाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि अगर कभी कुछ गलत काम हो जाए तो उसे माफी मांगनी चाहिए।

* छुट्टी वाले दिन अपने घर तथा आस-पड़ोस में सफाई के काम में बच्चों की मदद लेना न भूलें। इससे उन्हें भी पता रहता है कि अपने घर तथा अपने आस-पास के इलाके को साफ रखना चाहिए। साथ हीं पर्यावरण की देखभाल करना कितना आसान है।

* बच्चों के सामने अपने पति को गले लगाएं। आपकी शादी एकमात्र ऐसा उदाहरण है जो आपके बच्चे को परिवार के घनिष्ठ संबंध दिखाता है, प्यार महसूस कराता है। यदि आप ऐसा करती हैं तो यह बच्चे के कोमल मन में एक महान मानक सेट करने जैसा काम कर रही हैं।

* घर में पति-पत्नी एक दूसरे का सम्मान करें। बच्चों के भविष्य को बनाने के लिेए पति/पत्नी एक मूल दृष्टिकोण का समर्थन करें। अपने साथी के साथ आलोचना करना या बहस करना अच्छी बात नहीं।

...................

©2018 by Suno Mummy........